Cafè Reminiscence

Gulzar :Happy B’ day Gulzar Saheb.2016

तेरे उतारे हुए दिन तेरे उतारे हुए दिन टँगे हैं लॉन में अब तक ना वो पुराने हुए हैं न उनका रंग उतरा कहीं से कोई भी सीवन अभी नहीं उधड़ी इलायची के बहुत पास रखे पत्थर पर ज़रा सी…

Postman

My terrible tiny tale 140 ch:submitted to ttt but not approved , anyways here it is !   He delivers large boxes to different online customers. However, he sometimes wakes up in the night sweating profusely and screaming “money order!”